Hindi Grammar : अनेक शब्द के एक शब्द

Hindi Grammar : अनेक शब्द के एक शब्द
● जो बीत चुका हो – अतीत (IAS)
● जो दिखायी न पड़े – अदृश्य, अप्रत्यक्ष (UPPCS, IAS)
● जो सदा से चला आ रहा है – अनवरत (IAS)
● जो कभी नहीं मरता – अमर्त्य, अमर (APO, RAS, IAS)
● जो आगे (दूर) की न सोचता हो – अदूरदर्शी (Upper Sub.)
● जो आगे (दूर) की सोंचता हो – अग्रसोची, दूरदर्शी (UPPCS)
● धरती (पृथ्वी) और आकाश के बीच का स्थान – अंतरिक्ष (UPPCS)
● जिसका कोई अर्थ न हो – अर्थहीन (UPPCS)
● जिस पर आक्रमण न किया गया हो – अनाक्रांत (UPPCS)
● जिसे जीता न जा सके – अजेय (UPPCS, Upper Sub., RO)
● बिना वेतन काम करने वाला – अवैतनिक (UPPCS, B.Ed., Low Sub.)
● जिसका जन्म पहले हुआ हो (बड़ा भाई) – अग्रज (RAS)
● दोपहर के बाद का समय – अपराह्न (IAS, Upper Sub., UPPCS)
● जो पराजित न किया जा सके – अपराजेय (UKPCS)
● अधिक बढ़ा-चढ़ा कर कहना – अतिशयोक्ति, अतियुक्ति (B.Ed.)
● जिसका परिहार (त्याग) न हो सके/जिसको छोड़ा न जा सके – अपरिहार्य (UPPCS, B.Ed., Low Sub.)
● जो कानून के प्रतिकूल हो/जो विधि के विरुद्ध हो – अवैध, अविधिक (UPPCS, IAS)
● जो समय पर न हो – असामयिक (UPPCS)
● जो अवश्य होने वाला हो – अवश्यम्भावी (APO, UPPCS)
● जिसका विवाह न हुआ हो – अविवाहित (IAS)
● जो सबके अन्तःकारण की बात जानने वाला हो – अन्तर्यामी (MPPCS)
● जिसका इलाज न हो सके – असाध्य (RO)
● किसी कार्य के लिए दी जाने वाली आर्थिक सहायता – अनुदान (UKPCS)
● व्यर्थ/अनुचित खर्च करने वाला – अपव्ययी (RAS, UPPCS)
● जिसकी पहले से कोई आशा न हो – अप्रत्याशित (UPPCS, APO)
● पुरुष जो अभिनय करता हो – अभिनेता (MPPSC)
● जो भेदा या तोड़ा न जा सके – अभेद्य (Low Sub.)
● जिसका जन्म छोटी जाति (निचले वर्ण) में हुआ हो – अंत्यज (RO)
● जो अभी-अभी उत्पन्न हुआ हो – अद्यःप्रसूत (UPPCS)
● जिसको क्षमा न किया जा सके – अक्षम्य (Low Sub.)
● जो न जाना जा सके – अज्ञेय (Upper Sub., UPPCS)
● जो कुछ न जानता हो – अज्ञ, अज्ञानी (UPPCS, B.Ed.)
● कम बोलने वाला – अल्पभाषी, मितभाषी (Low Sub., APO, UPPCS, RAS,)
● थोड़ा जानने वाला – अल्पज्ञ (RAS, MPPCS)
● जिसका कभी अन्त न हो – अनन्त (UPPCS, B.Ed.)
● जिसका माँ-बाप न हो – अनाथ (IAS, UPPCS)
● जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय (RAS, IAS, UPPCS)
● जिस पर मुकद्दमा चल रहा हो/ जिस पर अभियोग लगाया गया हो – अभियुक्त, अभियोगी (UPPCS, APO, IAS)
● जिसकी कोई सीमा न हो – असीम (IAS, UPPCS)
● जिसके आने की कोई तिथि न हो – अतिथि (IAS, UPPCS)
● जिसे भुलाया न जा सके – अविस्मृति (IAS)
● जिसकी उपमा न हो – अनुपम, अनुपमा (UPPCS, IAS)
● जिसे बुलाया न गया हो/जो बिना बुलाये आया हो – अनाहूत (IAS, UPPCS)
● जिसका वचन या वाणी द्वारा वर्णन न किया जा सके/जिसे वाणी व्यक्त न कर सके – अनिर्वचनीय, अवर्णनीय (IAS, UPPCS)
● जिसे शब्दों में नहीं कहा जा सके – अकथनीय (UPPCS)
● जिसका निवारण न हो सकता हो – असाध्य (UPPCS, B.Ed.)
● जो अनुकरण करने योग्य हो – अनुकरणीय (APO)
● किसी के पीछे-पीछे चलने वाला/जो पीछे चलता हो – अनुचर, अनुगामी, अनुयायी (IAS, B.Ed.)
● जिस पर अनुग्रह किया गया हो – अनुगृहीत (UPPCS, B.Ed.)
● जो हिसाब किताब की जाँच करता हो – अंकेक्षक (MPPCS)
● रूप के अनुसार – अनुरूप (UPPCS)
● सोच-समझकर कार्य न करने वाला – अविवेकी (UPPCS, RAS)
● जो पहले कभी घटित न हुआ हो – अघटित (IAS)
● जिसकी परिभाषा देना संभव न हो – अपरिभाषित (IAS, B.Ed.)
● विकृत शब्द/बिगड़ा हुआ शब्द – अपभ्रंश (UPPCS)
● जो विश्वास करने योग्य (लायक) न हो – अविश्वासनीय (Low Sub.)
● जिसका किसी भी प्रकार उल्लंघन नहीं किया जा सके – अनुलंघनीय (Low Sub.)
● जो अभी तक न आया हो – अनागत (IAS, B.Ed.)
● मूल्य घटाने की क्रिया – अवमूल्यन (IAS, B.Ed.)
● अधिकार या कब्जे में आया हुआ – अधिकृत (UKPCS)
● जो पहले कभी नहीं सुना गया – अनुश्रुत (Low Sub.)
● जिसका जन्म अण्डे से हो – अण्डज (APO, B.Ed.)
● गुरु के समीप या साथ रहने वाला विद्यार्थी – अन्तेवासी (UPPCS, B.Ed.)
● जो व्यय न किया जा सके – अव्यय (Low Sub.)
● जिसका उत्तर न दिया गया हो – अनुत्तरित (Low Sub., UPPCS)
● जो बदला न जा सके – अपरिवर्तनीय (Low Sub.)
● जो इधर-उधर से घूमता-फिरता आ जाए – आगन्तुक (UPPCS, IAS)
● जो आदर करने योग्य हो – आदरणीय (IAS)
● आशा से अधिक/जिसकी आशा न की गई हो – आशातीत (Upper Sub., Low Sub.)
● आलोचना करने वाला – आलोचक (Upper Sub.)
● आदि से अन्त तक – आद्योपान्त, आद्यन्त (UPPCS, IAS)
● जो अपने पैरों पर खड़ा हो – आत्म-निर्भर (UPPCS)
● आभार मानने वाला – आभारी (RAS, UPPCS)
● जो किसी वस्तु या व्यक्ति के गुण-दोष की आलोचना करता हो – आलोचक (Upper Sub.)

General Knowledge : Gk Veda
General Knowledge : Gk Veda

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

No comments:

Post a Comment